अच्छे दोस्त खोने के १० कारण

बढती उम्र के साथ, आप स्वतंत्र आत्मनिर्भर होने के अलावा, सबसे खराब बात यह है कि आप अपने दोस्तों को एक-एक करके खो देते हैं. आपकी उनके साथ गहरी दोस्ती होती है, लेकिन जब आप वयस्क जीवन में कदम रखते हैं, तो वे सब कहीं गायब हो जाते हैं. ऐसा क्यूँ होता है यह जानने के लिए आगे पढिये.

१. जिन्दगी में प्राथमिकताएं बदलती हैं.

जब आप बड़े होते हैं, तो आप काम पर अधिक से अधिक समय व्यतीत करते हैं. अब आपके पास मित्रों से मिलने का समय नहीं है, जो कभी आप की पूरी दुनिया थे. जीवन उनके बिना अधूरा है यह आप महसूस करते हैं , लेकिन अब बहुत देर हो चुकी है.

२. हम अक्सर यह भूल जाते हैं कि, दोस्ती हमेशा आसान नहीं हो सकती.

दोस्त बनाना आसान है, लेकिन दोस्ती को बरकरार रखना कठिन  है. कॉलेज में उनके साथ बाहर घूमना आसान था क्योंकि वह सुविधाजनक था. लेकिन जैसे ही वक्त गुजरता है, हम दोस्ती छोड़ देते हैं, हम बहुत आसानी से दोस्तों से दूर हो जाते है और हम उनसे लड़ने के बजाय इस बदलाव को स्वीकार करते हैं, क्योंकि यह अधिकतम सुविधाजनक है.

friends-kuchhnaya

३. कभी-कभी, “प्यार” दोस्ती खराब कर देता हैं!

जब दो दोस्तों में से एक रिश्ते में प्रवेश करता है, तो दोस्ती अक्सर भूल जाती हैं. वे इसे बाद में महसूस कर सकते हैं लेकिन बदली हुई चीजें एक जैसी नहीं रहती. हम सब ने कभी न कभी ऐसा किया है.

४. समय की जरूरत!

हम बीस साल की उम्र में प्रवेश एक कठिन समय है. हम सब खुद को और दुनिया को साबित करने की कोशिश करना चाहते हैं. कुछ लोग भाग्यशाली होते हैं; कुछ को बहुत ज्यादा संघर्ष करना पड़ता है. जब दो लोग एक ही बिंदु से शुरू करते हैं, वे चौराहे पर मिलते हैं, असुरक्षा की भावना मन में निर्माण होती हैं. आप खुश होते  हैं कि वे अधिक सफल हैं, सिवाय इसके कि आप वास्तव में खुद को साबित नहीं कर पाए. आप जल्द ही उनसे दुरी बनाकर जीना शुरू करते हैं क्योंकि आपके जीवन में उनकी मौजूदगी आपको अधिक दुखी महसूस कराती है .कभी-कभी, इसके लिए आपकी अपनी असुरक्षा और कभी परिस्थिति जिम्मेवार होती है.

५. कुछ ज्यादा ही अपेक्षा रखना.

हमें अपने परिवार से सहयोग और विश्वास  नहीं मिलता वह हम अपनी दोस्ती में तलाश करते हैं. हमारे दोस्त हमें सबसे अच्छा जानते हैं, है ना? लेकिन कई बार, आपके दोस्त भी आपके जीवन के निर्णयों का समर्थन नहीं करते हैं और यही कारण है कि उनके आसपास रहना मुश्किल हो जाता है. उनके फैसले से हम उन्हें माफ़ नहीं कर सकते और सालों की दोस्ती पलभर में ख़त्म हो जाती है.

६. कुछ दोस्तों के साथ, आपको लगता है कि केवल आप ही प्रयास कर रहे हैं. इसलिए, आप इसे जाने देते हैं, क्योंकि आप हर वक्त पकड़कर नहीं रहना चाहते हैं.

इस दुनिया में किसी भी रिश्तें में एक व्यक्ति को हमेशा दूसरे की तुलना में अधिक प्रयास करना पड़ता हैं और कोई भी वह व्यक्ति बनना नहीं चाहता है. हम उन्हें खो देना पसंद करते है और हमारे अहं को सहलाते रहते हैं.

७. आपके पास कुछ अच्छे दोस्त होते है लेकिन वे विषाक्त भी हैं.

जीवन में एक बिंदु आता है, जहां आप अंत में महसूस करते हैं कि वे आप पर कितना बुरा प्रभाव डाल रहे हैं और आप तय करते हैं कि आप उनके बिना बेहतर हैं.

८. दोस्तों के जीवन में नये दोस्तों का प्रवेश !

बहुत से लोगों के लिए इस बात का सामना करना मुश्किल हो जाता है कि उनके मित्र नए दोस्त बनाते हैं. कोई हमारी जगह ले रहा है यह एक भयानक भावना है, लेकिन ऐसा होता है और यह हम में से सबसे अच्छे लोगों के साथ होता है जितना अधिक हम मालिकाना हक़ जताते हैं, उतनीही रिश्तों में कड़वाहट आती हैं.

९. वक्त के साथ दोस्ती में  दूरियाँ बढ़ जाती हैं !

कभी-कभी, आप अलग हो जाते हैं जिन चीजों पर आप एक दुसरे से बंधे हुए थे वे अब आपके जीवन में मौजूद नहीं हैं. आप और वे भी वक्त के साथ बदल चुके है कभी-कभी, आप लंबे समय के बाद एक दोस्त से मिलते हैं और महसूस करते हैं कि वह अभी तक बड़ा नहीं हुआ है. वार्तालाप से आप आहत होते हैं और यही वह क्षण है जिसे आप जानते हैं, आपके बीच की दोस्ती नहीं रही.

friendship-kuchhnaya

१०. गैर टकराव वाले रवैया रखना .

यह अजीब बात है कि हम अपने प्रिय मित्रों से किनारा कर लेते हैं और सालों बाद जब हम फेसबुक पर पुरानी तस्वीरे देखते हैं, तो हम सोचते हैं कि वास्तव में गलत क्या हुआ ? शायद यह एक छोटी बहस थी. आप इस बात को भूल जाते हैं और उन्होंने भी इसके बारे में कभी बात नहीं की, और दोस्ती धीमी गति से ख़त्म होती हैं. हमारा गैर टकराव वाला रवैया, संघर्ष की बात न करने की हमारी आदत कभी-कभी हमें हमारे सबसे अच्छे मित्रों से अलग कर देती हैं.

इन बातों को ध्यान में रखकर वक्त रहते दिलों की दूरियां मिटाने की एक बार कोशिश जरुर कीजिये…. क्या पता कोई  बिछड़ा हुआ  दोस्त फिर से मिल जाए……..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *