अपराधी मरना पसंद करते है मगर इन जेलों में जाना नहीं

भारत के बिहार राज्य में स्थित भागलपुर जिले के एक जेल का अंखफोड़वा कांड तो याद ही होगा. आज से करीब  37 साल पहले सन 1980 में जेल के अंदर चोरी के आरोप में कुछ कैदियों की आँखों में तेजाब डालकर पुलिसवालों ने उनकी आंखे फोड़ डाली थी. इस घटना ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था. हादसे का शिकार हुए पीड़ितों का मानना है कि ऐसी सजा से अच्छा तो मौत है. मगर हम आपको बता दें की ऐसी घटना सिर्फ बिहार के जेल में नहीं बल्कि  दुनिया में ऐसे कई जेलें है जहां अपराधी सजा काटने के बजाय मरना पसंद करते है. इसकी वजह जेलों में होने वाले दुर्व्यवहार. जिसका कई मानवाधिकार संगठन विरोध करते रहे हैं. वैसे भी कहा यही जाता है कि जेल एक ऐसी जगह है जहां कभी कोई नहीं जाना चाहेगा. कुछ जेलें ऐसी भी है जिनके नाम से ही अपराधी कांपते हैं. आज हम आपको दुनिया की कुछ ऐसी ही ख़ौफनाक जेलों के बारे में बता रहे हैं…

 

गीतारामा सेंट्रल जेल

gitaram jail kuchhnaya

रवांडा की संसार की सबसे खतरनाक जेल में गिना जाता है. जेल में कैदियों की क्षमता 500 है जबकि जेल में 6 हजार से ज्यादा कैदी बंद हैं. इस जेल में कैदियों को सुरक्षाकर्मियों द्वारा तो नहीं मारा जाता है लेकिन यहां के कैदियों पर दूसरे कैदियों को मारकर खाने का आरोप है. इस जेल में हर दिन तकरीबन 8 लोगों की मौत अलग-अलग बीमारियों की वजह से होती है. बावजूद कैदियों के जीवन स्तर में कोई सुधार नहीं हो पाया है.

गलदानी (Gldani) जेल

Gldani jail kuchhnaya

जॉर्जिया की इस जेल के बारे में 2012 में लीक हुई वीडियो से ज्यादा बेहतर तरीके से पता चल पाया. वीडियो के मुताबिक इस बात का खुलासा हुआ कि जेल में बंद कैदियों के साथ काफी बुरा व्यवहार किया जाता है, जिसमें सुरक्षा कर्मियों द्वारा किया यौन उत्पीड़न भी शामिल है.

ला सैंट (La Sante) जेल

La Sante kuchhnaya

फ्रांस की La Sante जेल पेरिस से कुछ मील की दूरी पर है. जेल की सुरक्षा काफी चाकचौबंद रहती है. यह जेल 1867 में खोली गई थी. इस जेल में बहुत से कैदियों ने सजा काटने के दौरान ही आत्महत्या कर ली. साल 1999 में 124 कैदियों ने जेल के अंदर ही सुसाइड कर लिया. जेल के अंदर हिंसा के मामलों को देखते हुए सिर्फ 4 घंटे के लिए ही बाहर छोड़ा जाता है.

पेटक आइसलैंड (Petak Island) जेल

Petak Island Poisson kuchhnaya
ajabgjab.com

रूस की जेलों के बारे में कहा जाता है कि वो बिलकुल भी सुरक्षित नहीं होती हैं. वाइट रिवर पर स्थित Petak Island जेल में रूस के सबसे कुख्यात दोषी कैद किए जाते हैं. जेल में मौजूद हर कैदी को करीब 20 घंटे अकेले बिताने होते हैं. जबकि साल में सिर्फ बार लोग मिलने आते हैं.

सैन क्वेंटिन स्टेट जेल 

San Quentin State kuchhnaya
a.scpr.org

अमेरिका के कैलिफोर्निया में स्थित सैन क्वेंटिन स्टेट जेल को 1852 में बनाया गया था. इस जेल में मौत की सजा के तरीके कभी भी बदल दिए जाते हैं. मौत की सजा देने के लिए इस जेल में फांसी , गैस चैम्बर या लेथल इंजेक्शन दिया जाता है. इस जेल में खराब सुविधाओं के साथ हिंसा के कई मामले सामने आए दिन देखने को मिलते रहते हैं.

बैंग क्वांग सेंट्रल जेल

bangkwang-prison-kuchhnaya

थाइलैंड की बैंग क्वांग सेंट्रल जेल को सबसे कठोर नियमों वाली जेल के तौर पर जाना जाता है. इस जेल में सिर्फ उम्रकैद की सजा काट रहे और मौत की सजा मिले दोषियों को कैद किया जाता है. सजा मिलने के 3 महीने तक यहां सजा काट रहे हर कैदी को लोहे की जंजीरों में रहना जरूरी होता है. यहां कैद बहुत से कैदी कुपोषण की वजह से ही अपनी जान गंवा देते हैं.

डायारबाकिर जेल

टर्की की इस जेल को 1980 में बनाया गया था. इस जेल में बंद कैदियों के साथ भी काफी बुरा व्यवहार किया जाता है. ऐसी भी खबरें आई थीं कि जेल में बंद कैदियों को कुत्तों से कटवाने और गुप्तांगों पर सिगरेट जलाने का काम किया जाता है.

कटोनौ (Cotonou) सिविल जेल

पश्चिमी अफ्रीका के देश बेनिन में स्थित Cotonou सिविल जेल में 400 कैदियों की क्षमता है लेकिन इस क्षमता के बावजूद 2400 कैदियों को कैद किया गया है. इस जेल से मानवाधिकार उल्लंघन के कई शिकायतें आती रहती हैं.

ताड़मोर जेल, सीरिया

kuchhnaya
विश्व की सबसे खतरनाक जेलों में से एक ताड़मोर जेल अपनी अमानवीय यातनाओं के लिए मशहूर है. यहाँ पर कैदियों को इतना टार्चर किया जाता है की कई बार उनकी मौत भी हो चुकी है, कुल्हाड़ी से काटने जैसी सजा के चलते कैदी यहाँ आने की बजाये मरना पसंद करते है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *