मुंबई की आवाज: सड़कों को सुधारने के लिए वेबसाइट पर अफसर का काम दिखाने की करें मांग!

आज, देश में भ्रष्टाचार बढ़ गया है जिसके कारण सड़कों की गुणवत्ता में बहुत कमी आई है. भ्रष्टाचार के कारण और भी बहुत सारे नुकसान हो रहे हैं. और पब्लिक के पास ऐसी कोई सार्वजानिक सबूत भी नहीं होते जिसका उपयोग करके भ्रष्ट व्यक्ति को सज़ा दिलवाई जा सके और भ्रष्टाचार को रोका जा सके. कार्यकर्ताओं को सूचना आधिकार डालकर जानकारी देने की भीख मांगनी पड़ती है और महीनों बाद भी कई बार वो जानकारी / सबूत सार्वजानिक नहीं होते.

 

roadsmumbai

 

समाधान क्या है ? #CitizensVerifiablePublicFundsSpending

हम, मुंबई के निवासी, मुंबई  नगर के कमिश्नर से ये मांग करते हैं कि ऐसी वेबसाईट बनाएँ  जिसमें रोड की गुणवत्ता और मरम्मत के बारे में ये जानकारी हो –

1. ठेकों की बोलियां और ठेकेदारों की जानकारी : ठेके किस आधार पर किसको दिए गए और अफसर का नाम जिसने निर्णय लिया
2. सरकारी व्यय के लिए जारी किए गए सभी चेक-बुक की काउंटर पैड जानकारी – अफसर का नाम जिसने भुगतान पास किया
3. पिछले ठेके – पहले बताये विवरण अनुसार पिछले वित्तीय वर्षों से ठेकों और व्यय वेबसाइट पर शामिल किए जाने चाहिए
4. अधिक शक्तिशाली खोज: निवासियों के लिए ठेकेदार के भुगतानों का पता लगाना आसान हो, ताकि वे आसानी से ठेकेदार के स्थान की खोज कर सकें, कौनसे अफसर ने भुगतान को पास किया था या सड़क में प्रयोग होने वाली सामग्रियों की जांच की थी, उस महीने की खोज कर सकें जब भुगतान किया गया था और निवासी ठेके और अनुदान में अंतर कर सकें.
5. सड़क में प्रयोग होने वाली सामग्रियों के नमूने की जांच की डिटेल में रिपोर्ट – अफसर जिन्होंने जांच की, उनका नाम.

ताकि सूचना अधिकार की जरुरत कम हो जावे और कार्यकर्ताओं को सुचना अधिकार के कारण सताए जाने या जान गवाने के खतरे का सामना नहीं करना पड़े. और यदि कुछ भ्रष्टाचार आदि गलत हो रहा है, तो कार्यकर्ता उसको रोकने के लिए कदम उठा सकें.

यदि आप इस मांग का समर्थन करते हैं, तो कृपया ये कदम उठाएँ –

  1. एक सादा कागज लीजिए और उस पर अपना नाम और वोटर नंबर डालें (यदि वोटर नंबर नहीं हो तो अपना एड्रेस डालें) और उसे इन्टरनेट पर सार्वजानिक रखें ताकि दूसरे संपर्क करके जांच सकें और ताकि सरकारी अफसर ट्रान्सफर आदि द्वारा फिसल नहीं सकें और इसकी लागू होने की सम्भावना बढ़ जाये.
  2. कृपया 9112028108 को एस.एम.एस भेजिए –
    0021
    (एस.एम.एस में केवल ये 4 नंबर रहेंगे)
  3. mumbaichaawaz.com वेसाईट पर जाकर पंजीकरण करवाएं (पंजीकरण प्रक्रिया के लिए वेबसाईट देखिये)
  4. इसके अलावा, मुंबई नगर कमिश्नर को फोन / एस.एम.एस. करें और  उसको इन मांगों के बारे में सूचित करें.

यदि पर्याप्त वोटर नंबर समर्थन सार्वजानिक आयेंगे, तो जहाँ भी सरकारी अफसर जायेंगे, नागरिकों को ये मांग न पूरी करने का अच्छा कारण देने के लिए कहेंगे कि क्यों उन्होंने इस हजारों / लाखों लोगों की मांग के लिए कुछ भी नहीं किया है. इस प्रकार, दबाव आने से मांग पूरी होने की सम्भावना बहुत बढ़ जायेगी.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *