पेट्रोल भरते समय सतर्क रहें, क्योंकि आप की आंखों के सामने आपको लूटा जा सकता है

पेट्रोल पंप पर गाड़ी में पेट्रोल भरने के लिए हम जाते हैं तब केवल दो चीजों की तरफ ध्यान देते हैं. पहली चीज मतलब पेट्रोल के मशीनपर कितना लीटर पेट्रोल दिखाया जा रहा है और उसमें पैसे बराबर चार्ज हो रहे है की नही. अन्य चीजों की तरफ हमारा ध्यान जाता हि नही. ध्यान नही जाता कहने के बजाए वे चीजें हमें पता हि नही होती जिसके कारण हम उनकी तरफ ध्यान देने का सवाल हि पैदा नही होता. पर आपको सुनकर आश्चर्य महसूस होगा की कुछ चीजे आपको पता ना हो तो आपके नजरों के सामने आपकी पेट्रोल की खरीददारी में चारसो बीसी हो सकती है और आपको पता भी नही चलेगा की आपको फसाया गया है. ऐसी ही कुछ चीजे हम आज आपके ध्यान में ला रहें हैं मतलब आगे से आपको कोई फसा नही सकेगा.

petrol-pump-kuchhnaya01

स्रोत

पेट्रोल की मशीन में एक खास चीप बिठाई जाती है. उसे रिमोट से नियंत्रित किया जाता है. सेल्समन इसे बटन से कंट्रोल करता है. पेट्रोल भरते समय बटन दबाने से पेट्रोल कम पड़ता है. यानि मीटर तो शुरु रहता है लेकिन आपको उससे कम पेट्रोल मिलता है.

पेट्रोल भरने के पहले मीटर का रिडींग शून्य होना आवश्यक है. मिलावट होने की आशंका हो तो फिल्टर पेपर परीक्षण करवाने की मांग करें. बिल लेना ना भूलें. कुछ बातें बराबर ना लगे तो शिकायत कर सकते हैं.

petrol-pump-kuchhnaya02

स्रोत

पेट्रोल पंप के कर्मचारी पेट्रोल भरते समय पेट्रोल भरने के पाईप के पास की नोजल दबा रहे हो तो पक्का गडबड है. क्योंकि, एक बार स्विच ऑन करने के बाद नोजल बारबार दबाना मतलब आपको पक्का फसाया जा रहा है. नोजल का संबंध सीधे मीटर से होता है. अगर मीटर में २०० रुपये का पेट्रोल फीड किया हो, तो एक बार नोजल का स्विच दबाने के बाद २०० रुपये का पेट्रोल डालने के बाद उसका स्विच अपनेआप बंद होता है. स्विच सिर्फ मीटर ऑन करने के लिए होता है. फीड की किये गये आकड़े खतम होने के बाद मीटर रुकता है. पेट्रोल डालते समय अगर नोजल का स्विच बंद किया तो मीटर चालू रहता है. मात्र, पेट्रोल बाहार नही आता. इसी बात का फायदा लेकर कर्मचारी पेट्रोल डालते वक्त बीच बीच में स्वीच बंद करते हैं. जिससे पेट्रोल टंकी में धीरे धीरे जाता है. २०० रुपये का पेट्रोल भरने के लिए ३० से ४५ सकेंड का समय लगता हैं. जिससे आपका सारा ध्यान मीटरपर रहता है. अगर कर्मचारी १० सेकंद के लिए स्विच बंद करता है तो समझ ले की आपका ५० रुपयों का पेट्रोल कम भर दिया गया.

petrol-pump-kuchhnaya03

स्रोत

बहुत बार पेट्रोल भरने के लिए सुबह सुबह हम जाते हैं. उस वक्त कामपर जाने की भी जल्दी रहती है. बहुत बार २०० या ३०० रुपये का पेट्रोल भरने के लिए २००० रुपयों की नोट देते हैं. पर उसी वक्त पैसे वापिस करते वक्त बहुत बार ग्राहक को कम पैसे दिए जाते हैं. उस कारण पेट्रोल पंप छोडने से पहले पैसे जरूर गिन ले.

कभीभी १००, २०० अथवा ५०० रुपयों का पेट्रोल किंवा डिझेल ना भरें. हमेशा, जरा अलग कीमत का पेट्रोल भरें.
उदा. १०४, २०७ ऐसा पेट्रोल भरें. क्योंकि, काफी पेट्रोल पंप में मशीन से छेडछाड कर उनका वेग बढाते हैं. इससे मीटर जम्प करता है. जब आप ऑड नंबर का पेट्रोल डालते हैं तब म्यॅनुअली पेट्रोल डालना पड़ता है और मीटर भी जम्प नही होता.

petrol-pump-kuchhnaya04

स्रोत

आगे सतर्क रहें और खुद के साथ धोकेबाजी न होने दें. तथा अन्य लोगों तक भी यह जानकारी पहुचाएं!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *