हवाई जहाज की खिडकियों का आकार गोल क्यों होता है. ?

आसमान में उड़ते हुए हवाई जहाज को देखकर  सब के मन में ये जिज्ञासा उत्पन होती रहती हैं . ये हवाई जहाज की तकनीक जबसे दुनिया में आई है तबसे इसने आम आदमी के सामने अनेको सवाल उत्पन्न किये हैं.

बचपन से ही हर कोई  छोटे-बड़े हर तरह के हवाई जहाज के बारे में कई सवालों के जवाब ढूढ़ता रहा है . ऐसी  ही एक दुविधा में डालने वाला सवाल है कि हवाई जहाज की खिड़कियों के कांच का आकार oval ( गोल) क्यों होता हैं?

airplane-round-window-kucchnaya01
http://www.huffingtonpost.in

जिन्होंने भी हवाई जहाज से सफ़र किया होगा उनके मन में  हमेशा से ये सवाल उठता ही होगा.

आप ये जानकर आश्चर्य चकित होंगे की हवाई जहाज की खिड़कियों का आकार पहले से गोल नहीं था. पहले ये कांच ‘आयातकर’ होते थे. लेकिन आयाताकार खिड़कियों के कारण  बहुत से हवाई जहाज दुर्घटना ग्रस्त हुए थे. ये बात सामने आई तो आयाताकार की जगह गोल आकार की कांच ने ले ली.

हेविलैंड कॉमेट नामक  प्रसिद्ध हवाई जहाज की खोज १९५० में हुई थी. इस हवाई जहाज को एक नए सुपरफास्ट केटेगरी के रूप में देखा जाता था. इस हवाई जहाज की यात्री क्षमता अपेक्षाकृत अन्य हवाई जहाजों से बेहतर थी. हवाई जहाज के निर्माताओं ने सब सही तरीके से किया था पर उनसे एक गलती हो गयी थी, कि हवाई जहाज के खिड़कियों के कांच आयातकर थे. और उसका परिणाम ये हुआ की १९५३ में हेविलैंड कॉमेट टाइप के  दो हवाई जहाज दुर्घटनाग्रस्त होके सीधे आसमान से जमीन पर गिरे. इस दुर्घटना में लगभग ५६ यात्रियों ने जान गवाई थी.

airplane-round-window-kucchnaya02
www.extremetech.com

जाँच करने पर यह पाया गया की विमान की खिड़कियां अयातकर होने की वजह से, इनके कोनो में हवा का दबाव बना रहता था. हवा के अत्यधिक दबाव के सामने वो कांच की खिड़कियां टिक नहीं पाई और टूट कर गिर गयी. परिणाम स्वरुप हवाई जहाज दुर्घटनाग्रस्त हो गया . इस घटना के बाद दुर्घटना रोकने हेतु गोल आकार के कांच की खिड़कियों का निर्माण किया जाने लगा. गोल खिड़कियों को कोने न होने से कांच पर हवा के  दबाव का निर्माण नहीं होता और कांच भी नहीं टूटता .

airplane-round-window-kucchnaya03
scandinaviantraveler.com

तो ये था इस गोल कांच का एक छोटा किन्तु महत्वपूर्ण राज.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *